1. Home
  2. /
  3. Investing
  4. /
  5. Hindi
  6. /
  7. आपको रिटायरमेंट के लिए...

STOP!

Don't Lose Money in Stock Market.

Build your Multibagger Portfolio Instead

Share your WhatsApp number to Get a Call 

STOP!

Don't Lose Money in Stock Market.

Build your Multibagger Portfolio Instead

Share your WhatsApp number to Get a Call 

आपको रिटायरमेंट के लिए कितने पैसे चाहिए? आसानी से पता करें

  1. Home
  2. »
  3. Hindi
  4. »
  5. आपको रिटायरमेंट के लिए कितने…
Retirement Article
0
(0)

आप रिटायरमेंट के लिए केवल एक करोड़ रुपए बचा रहे हैं। लेकिन, क्या आपके रिटायरमेंट के लिए एक करोड़ रुपए काफी होगा? सोच रहे होंगे कि क्या  जरूरी रिटायरमेंट रकम के बारे में पता करने का कोई तरीका है? तो, इसका जवाब है, हां।  

जरूरी रिटायरमेंट रकम कैसे पता करें?

रिटायरमेंट प्लानिंग कैलकुलेटर से जरूरी रिटायरमेंट रकम पता कर सकते हैं। इसके लिए इस फॉर्मूले का इस्तेमाल करें।

एफवी = पीवी (1+आर)^एन

यहां,

>एफवी= फ्यूचर वैल्यू
>पीवी= प्रेजेंट वैल्यू
>आर= अनुमानित महंगाई दर
>एन= रिटायर होने में बचा समय

उदाहरण से इसे समझिये।

मान लिया कि अभी आप हर महीने 35 हजार रुपए खर्च करते हैं। अभी आपकी उम्र 35 साल है और 60 साल की उम्र में आप रिटायर होना चाहते हैं। ऐसे में रिटायरमेंट के लिए आपको कितने पैसे की जरूरत होगी। अगर अनुमानित महंगाई दर  6 प्रतिशत मान लें, तो फॉर्मूले के हिसाब से…..

एफवी = पीवी (1+आर)^एन

यहां,

>एफवी= फ्यूचर वैल्यू

>पीवी: रु.35 हजार
>आर= अनुमानित महंगाई दर (6 प्रतिशत)
>एन= रिटायर होने में बचा समय (60 साल – 35 साल) = 25 साल

एफवी = रु. 35,000 (1+0.06) ^25 = रु. 1, 50,215.5

रिटायरमेंट अवधि में यह हर महीने की जरूरत है। हर साल कितना चाहिए, ये जानने के लिए मासिक जरूरत को 12 से गुना करना होगा।

ऐसा करने पर रु. 1, 50,215.5 * 12 = रु. 18, 02,586 होगा यानी रिटायरमेंट के बाद आपको हर साल रु. 18, 02,586 की जरूरत पड़ेगी।

अब पता करें कि आप की रिटायरमेंट अवधि कितने साल रह सकती है।  इसे पता करने के लिए जीवन प्रत्याशा (Life Expectancy) यानी कितने साल तक जीने की उम्मीद है में से रिटायरमेंट की उम्र घटाते हैं।

मान लिया आपकी जीवन प्रत्याशा 80 साल है और रिटायरमेंट की उम्र 60 साल मानकर पहले से ही चल रहे हैं। ऐसे में आपकी रिटायरमेंट अवधि 20 साल (80 साल-60 साल=20 साल) हुई।

तो, 20 साल के लिए आपकी कुल रिटायरमेंट रकम रु. 36,051,720

(20 X रु. 18, 02,586) हुआ। यानी अभी आप हर महीने 35 हजार रु. खर्च करते हैं और आपकी उम्र 35 साल है। आप 60 साल की उम्र में रिटायर होना चाहते हैं और आपकी रिटायरमेंट अवधि 20 साल है, तो ऐसे में आपको कुल मिलाकर रिटायरमेंट रकम के तौर पर रु. 36,051,720 की जरूरत होगी। केवल एक करोड़ रुपए बचाने से काम नहीं चलेगा।  

अब सवाल है कि अगले 25 साल में रु. 36,051,720 जमा करने के लिए आपको क्या करना होगा। इसके लिए आपको किसी भरोसेमंद वित्तीय सलाहकार से मदद लेनी चाहिए। यह आपकी जरूरत, आपकी मौजूदा कमाई, आपके जोखिम संभाव्यता जैसे कारकों को देखते हुए फाइनेंशियस प्लान बताएगा। आपको किस निवेश साधन में कितना निवेश करना है, इसकी सलाह देगा। 

रिटायरमेंट रकम जमा करने के लिए 9 सुरक्षित निवेश साधन:

रिटायर हो चुके हैं या फिर रिटायर होने वाले हैं और रेगुलर इनकम के लिए सही निवेश साधनों की तलाश में हैं तो हम आपको उन 9 साधनों के बारे में जानें, जो एकदम सुरक्षित है।

1) सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम (SCSS):

-डाकघरों और चुनिंदा बैंकों में खाता खुलेगा।

-60 साल या उससे अधिक उम्र वालों के लिए।

-मैच्योरिटी पीरियड 5 साल।

-हर तिमाही ब्याज दर की समीक्षा।

2) डाक घर मासिक आमदनी योजना खाता :

-डाकघरों में खाता खुलवाना होगा।

-मैच्योरिटी पीरियड 5 साल।

-एक अकाउंट में एक बार पैसे लगाने की सुविधा।

-हर तिमाही ब्याज दर की समीक्षा

3) बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट्स (एफडी):

-बैंक में जाकर एफडी खाता खुलवाएं।

-आप रेगुलर कितना पैसा चाहते हैं, उसके मुताबिक एक बार में पैसे लगाएं।

4) राष्ट्रीय बचत पत्र (NSC):

-डाकघर से खरीदें।

-कम से कम 100 रुपए का निवेश जबकि अधिकतम की कोई सीमा नहीं।

-मैच्योरिटी पीरियड 5 साल।

5) डाकघर सावधि जमा:

-डाकघर में खाता खोलें।

-एक साल, दो साल, 3 साल और 5 साल मैच्योरिटी वाली एफडी स्कीम उपबल्ध।

-हर तिमाही ब्याज दर की समीक्षा।

-अलग-अलग मैच्योरिटी वाले एफडी की ब्याज दरें अलग-अलग।

6) कर मुक्त बॉन्ड्स:

-सरकारी कंपनियां द्वारा जारी।

-पहले प्राइमरी मार्केट में उपलब्ध। 

-शेयर बाजार से भी खरीदी-बिक्री। 

7) तत्काल एन्यूइिटीज प्लान:

-इंश्योरेंस प्रोडक्ट है।

-इसके तहत एकमुश्त रकम जमा करें और तुरंत ही पैसा जमा करने के आमतौर पर महीने भर के भीतर ही नियमित पेंशन पाना शुरू कर दें। 

-लाइफ इंश्योरेंस कंपनियों द्वारा संचालित पेंशन स्कीम।

-सालाना 5-6 प्रतिशत ब्याज।

8) प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (PMVVY):

-यह पेंशन योजना है।

-60 साल से अधिक उम्र वालों के लिए है।

-मैच्योरिटी पीरियड 10 साल।

-मासिक पेंशन विकल्प चुनने पर 10 वर्षों के लिए 8 प्रतिशत की गारंटीशुदा रिटर्न  मिलेगा। अगर वार्षिक पेंशन विकल्प चुने तो 10 वर्षों के लिए 8.3 प्रतिशत का गारंटीशुदा रिटर्न मिलेगा।

-प्रति वरिष्ठ नागरिक 15 लाख तक जमा कर सकते हैं।

-इसे एलआईसी से ऑनलाइन या ऑफलाइन खरीद सकते हैं। 

-पेंशन धारक को हर महीने, हर तीन महीने पर, हर छह महीने पर और हर साल  पेंशन का भुगतान किया जाएगा। विकल्प आपको चुनना है।

9) सार्वजनिक भविष्य निधि (पीपीएफ):

-डाकघरों या बड़े बैंकों में खाता खुलवा सकते हैं।

-ब्याज दर की तिमाही समीक्षा।

-15 साल में मैच्योर।

-हर साल डेढ़ लाख रुपए तक निवेश पर कर छूट की सुविधा। 

जल्दी शुरुआत पर ज्यादा रिटायरमेंट रकम का फायदा:

रिटायरमेंट रकम जमा करना जितनी जल्दी शुरू करेंगे, आपके लिए उतना ही अच्छा रहेगा। जल्दी से रिटायरमेंट रकम जमा करने की शुरुआत करने से फायदा यह होता है कि थोड़ा थोड़ा पैसा जमा कर रिटायरमेंट तक आप काफी अधिक रकम जमा कर सकते हैं। 

इसे उदाहरण से समझिये। मान लिया ABC ने 30 साल की उम्र से हर महीने 10 हजार रु. किसी एसआईपी में निवेश करना शुरू किया। अगर 12 प्रतिशत का  औसत सालाना रिटर्न मान लें, तो उसके हिसाब से रिटायरमेंट होते समय यानी 60 साल की उम्र में उसकी रकम की वैल्यू रु.3,005,00,20 से अधिक होगी। इतना ही निवेश अगर xyz ने  35 साल की उम्र में शुरू करे, तो 60 साल की उम्र में उसे केवल रु. 1, 68, 62, 000 मिलेंगे। मतलब केवल 5 साल की देरी पर रिटायरमेंट रकम की वैल्यू करीब आधी हो सकती है।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

Website | + posts
Share on:

Want A Personalized Portfolio of 20-25 Potential High Growth Stocks?

*T&C Apply

Index